कैसे और क्यों होती है बारिश? जानें पूरी जानकारी

हाय हैल्लो नमस्कार दोस्तों तो आज के इस लेख में हम जानेंगे कि कैसे और क्यों होती है बारिश? पूरी जानकारी जानेंगे तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें।

मुर्गी पहले आयी या अंडा (egg) पहले आया, बरसात क्यों हुई और बर्फ (ice) कैसे बनी? ऐसा क्यों हुआ इसके पीछे क्या कारण है? और आगे क्या होने वाला है ऐसे अनगिनत सवालों से इन्सान अक्सर घिरा रहता था। घिरा रहता है। और आगे भी घिरा रहेगा। क्योंकि यह हमारी एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। हमेशा खोज करना रहस्यों को सुलझाना और इस बारे में सोचते रहना।

नमस्कार दोस्तों स्वागत है। आप सभी का इस वेबसाइट पर आज हम कुछ ऐसी ही बातें करने वालें हैं। क्योंकि हम एक ऐसे अनोखे ग्रह पर रहतें हैं। जहाँ पर तरह-तरह के मौसम अनजाने नजारे और हमेशा कुछ न कुछ अजीब घटता ही रहता है। यह ब्रम्हाण्ड का सबसे अद्भुत ग्रह है और यह है। हमारी पृथ्वी हमने इसके रहस्य को समझना अभी शुरू ही किया है। इन रहस्यों में एक रहस्य है पानी का बरसना या बरसात होना। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि वैज्ञानिकों के अनुसार पानी हमारी पृथ्वी पर अरबों सालों से मौजूद है। हम वही पानी पी रहें हैं। पानी कभी खत्म नहीं होता है।

यह भी पढ़ें:एक बार पढ़ा हुआ हेमेशा के लिए याद रखने के 5 आसान तरीके

यह Recycle होता रहता है आसमान से हमारी पृथ्वी नीली और हरी दिखाई देती है। और अगर इसके कारण की बात करें तो विशाल समुद्र और भू-भाग यानि की पृथ्वी पर लगभग 71% भाग पर जल (water) है। जिसमें जिसमें 96.5% समुद्र (sea) है। और बाकी का बचा हुआ जल पृथ्वी के भू-भाग पर मौजूद है। यह कितनी विचित्र बात है न कि हमारा शरीर और पृथ्वी पर पानी की मात्रा ज्यादा है। क्योंकि हम पृथ्वी की संतान हैं। विज्ञानिकों के अनुसार हमारे शरीर के 65% हिस्से में पानी की मात्रा है। तो अब तक आप ये समझ चुके होंगे, कि पानी का हमारे जीवन में कितना महत्व है। और यही एक सवाल है जिसने हमें सोचने पर मजबूर किया है। और इस लेख में हम पूरी कोशिश करेंगे कि जिससे आपको यह समझ में आ जाये कि कैसे और क्यों होती है बारिश?

कैसे और क्यों होती है बारिश?

बारिश देखने में बहुत आसान लगती है। पर बहुत कम लोग यह जानतें हैं कि यह कैसे होती है। हमारे साँस लेने से लेकर नदियों और समुद्र से निकलने वाली भाप जब आसमान में जाती है। तो बादल बनकर बरसती है। पानी के कण सूर्य की गर्मी से दूर-दूर हो जातें हैं। ये इतने हल्के हो जातें हैं। कि आसमान में उड़ जातें हैं। आसमान में जैसे-तैसे तापमान (temprature) कम होता है। ये वापस तरल होकर बर्फ में बदल जातें हैं। अब यह सवाल उठता है कि आसमान में बर्फ कैसे बनती है?

आसमान में बर्फ कैसे बनती है?

ये पानी कभी भी अपने से बर्फ नहीं बनता है इसे बनने के लिए भी सूक्ष्म कणों की जरूरत पड़ती है। जिसमें चिपक करके ये बर्फ बन सकें अन्तरिक्ष (sky) से हर दिन करोणों सूक्ष्म कण पृथ्वी पर आतें हैं। और पृथ्वी से भी बहुत से जिव और धूल के कण आसमान में जातें हैं। जिन पर पानी की बूंदे इकट्ठा हो करके बर्फ जमाती हैं। तो यह बर्फ जब एक दुसरे से जुड़कर बहुत भारी हो जाती है। तो निचे गिरना शुरू करती है जैसे-जैसे बर्फ धरती के नजदीक आती है। तापमान बढ़ने से पानी में बदल जाती है। और फिर बरसात होती है। तो भाप आसमान में औसतन दस दिन तक रहती है। जो कि हजारों किलोमीटर की यात्रा करने के बाद बरस जाती है।

बादल (cloud) हमेशा आसमान पर मौजूद रहतें हैं ये अपने साथ करोणों लीटर पानी रखतें हैं। तो अगर यह सारा पानी पृथ्वी पर एक साथ गिर जाये तो लगभग सारा भू-भाग पानी से ढक जायेगा। करोणों सालों से पानी recycle हो रहा है। और जब तक समुद्र है यह होता रहेगा पर बढ़ती जनसंख्या और प्रदूषण ने बारिश को प्रभावित किया है। जिससे सूखा और बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। तो हमें प्रदूषण को रोक करके इसे ठीक करना चाहिए।

यह भी पढ़ें:Exam Paper में तेज लिखने का सबसे बेहतर तरीका

Final Words

हम उम्मीद करतें हैं कि हमारा यह लेख आप लोगों के लिए बहुत उपयोगी होगा। अगर यह लेख आप लोगों को पसंद आये, तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर (share) करें। और अपना सुझाव हमें comment box में comment करके बता सकतें हैं।

Rohit Yadav

Hi Friends! I am Rohit Yadav, a Web developer, programmer and blogger. I love to write a blog and share our thoughts and knowledge with other peoples. I think the articles written by me will be very helpful for you.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *