पढ़ाई के लिए सही Time Table कैसे बनायें? पूरी जानकारी

Time Table एक ऐसा टूल है जो हमेशा से ही प्रॉपर स्टडी रूटीन बनाने में प्रभावी रहा है। यह सिंपल सा Time Table आपके पढ़ाई के हर एरिया को कवर करता है। और एक सिमित समय में हर एरिया के task को पूरा करने में आपकी मदद करता है। इसके वजह से पढ़ाई से ध्यान भटक नहीं पाता और जिस फोकस की जरूरत होती है। वह सही जगह पर बना रहता है। इसलिए हर एक students को Time Table जरूर बनाना चाहिए। और आज के इस लेख हम आप लोगों को बतायेंगे कि पढाई के लिए सही Time Table कैसे बनायें? (How to make the right time table for studies)

Time Table कैसे बनायें

Time Table Meaning in Hindi

Time Table का मतलब हिंदी में “समय सारणी” होता है।

यह भी पढ़ें: Exam Paper में तेज लिखने का सबसे बेहतर तरीका

पढ़ाई के लिए सही Time Table कैसे बनायें?

1. Important Dates और Deadlines को Note कीजिये

सबसे पहले आप अपने सभी Important Dates और Deadlines को Note कीजिये। जिनमें एकैडमिक और सोशल कमिटमेंट शामिल हों। जैसे Exam Periods, Assignment Deadlines, Sports, Exercises, Birthdays और Vocations आदि। इन्हें नोट करने के बाद आप स्टडी टाइम में से कुछ समय अलग कर लेंगे। जब आपको इन्हें समय देना होगा और आप यह भी कर पायेंगे। आप इन Events को पूरा दिन देना चाहेंगे। या कुछ समय में ही इन्हें पूरा किया जा सकता है। ताकि पढ़ाई पर ज्यादा प्रभाव ना पड़े।

2. Syllabus के अनुसार Timetable बनायें

आपका Syllabus कवर करने में आपको कितना समय लगेगा। और किन किन विषयों पर ज्यादा समय देने की जरूरत है। यह सब पता लगाने के बाद ही टाइम टेबल बनाना सही होगा। इसलिए Syllabus को अच्छी तरह से समझकर ही टाइम टेबल बनायें।

3. Time Table में केवल Subjects को ही जगह ना दें

रिसर्च के मुताबिक physically active students प्रभावी तरीके से पढ़ाई कर पातें हैं। इसीलिए अपने Time Table में Subjects, Topics और Extra Curriculun Activities को Mention करने के अलावां इसमें Outdoor Games और Funtime को भी जगह दीजिये। ताकि आप पढ़ाई के लिए भी एक्टिव रह सकें।

यह भी जानें: English Writing Skill को कैसे Improve करें? पूरी जानकारी

4. एक दिन के लिए एक ही Subjects ना चुनें

एक सिंगल सब्जेक्ट को लम्बे समय तक पढ़ते रहना बहुत मुश्किल हो सकता है। इसलिये प्रत्येक दिन आपके पास सब्जेक्ट्स की विभिन्नता होनी चाहिए। ताकि आप अपने आपको बोर ना महसूस करें। और एक सब्जेक्ट को एक फिक्स टाइम देने के बाद आप दूसरा सब्जेक्ट भी पढ़ सकें। तब आप सब्जेक्ट के लिए ग्रुप स्टडी का आप्शन लेने वाले हों तो उसे आप अपने Time Table में मेंशन कर लें।

5. Boring Time Table ना बनायें

आप हर दिन अपने पढ़ाई की शुरूआत और अंत टाइम टेबल से करेंगे। ऐसे में यदि आप Boring Time Table बनाकर उसमें बहुत सारी जानकारियाँ भरने की सोच रहें हैं, तो ऐसा न करें। इसकी बजाय आप अच्छे से रंगीन sheet पर अलग अलग रंग से सब्जेक्ट और टॉपिक को लिखिए, महत्वपूर्ण बिन्दुओं को हाईलाईट करें। और कठिन टास्क को पूरा करने पर रिवॉर्ड का विकल्प भी रखें। आप चाहें तो इन पर छोटे छोटे कोट्स भी लिख सकतें हैं। इन छोटे-छोटे प्रयासों में मैजिकल इफ़ेक्ट होता है। जो आपको एक Attractive Time Table बनाकर पता चल जायेगा।

6. Time Table को Follow करें

जीवन में ज्यादा सीरियस होना अच्छा नहीं होता है। लेकिन जो आपकी लाइफ बना सकता है उसके लिए तो सीरियस होना तो बनता है। यानि आपके टाइम टेबल को सीरियसली ही फॉलो किया जाना चाहिए। ताकि आप step to step सभी task को पूरा करतें जायें हर टॉपिक और सब्जेक्ट को कवर करतें जायें। ताकि आप अपनी कक्षा में वह पोजीशन बना पायें, जो आप खुद से एक्स्पेक्ट करतें हैं। इसलिए अपने टाइम टेबल पर बने रहें और उसे फॉलो करें।

7. Distraction को दूर करना भी सीखिए

यदि आपको Time Table से प्रभावी परिणाम नहीं मिल रहें हैं तो यह चेक कर लीजिये कि क्या आप उसके अनुसार पढ़ाई कर रहें हैं। या फिर वह केवल आपके दीवार पर चिपका हुआ है। और आप अपने मोबाइल में ब्यस्त रहतें हैं। इसका मतलब टाइम टेबल भी आपकी मदद तभी करेगा जब आप अपनी मदद खुद करेंगे। और सभी Distractions को अपनी पढ़ाई से दूर रखेंगे। जैसे फोन, टीवी आदि।

8. Time Table अनुसार चलने की आदत डालें

आपकी आदत अच्छी हो या बुरी उसमें ढलने में थोड़ा समय तो लगता है। तो फिर यह तो टाइम टेबल है। जो आपको यहाँ वहां घूमने और बेवजह फोन में लगे रहने से रोकेगा। ऐसे में इसे तुरंत पसंद नहीं कर पायेंगे। लेकिन लेकिन आपको धीरे-धीरे इसकी आदत डालनी होगी। इसलिए बिना कुछ सोचे इसे फॉलो करते जाइये। कुछ ही दिन में आप देखेंगे कि टाइम टेबल के अनुसार चलने की आपकी आदत बन जाएगी। और आपने सही रास्ता पकड़ लिया है इसलिए इसे न छोड़ें (Don’t give up)।

यह भी पढ़ें: बुरी आदतों को दूर करने के 8 टिप्स (8 Tips to Improve Bad Habit)

9. School Time के अनुसार Time Table बनायें

आपके स्कूल के समय को टाइम टेबल में न जोड़ें। बल्कि दिन के बाकी बचे हुए समय को ध्यान में रखते हुए ही टाइम टेबल को तैयार करें। जिसमें आप सभी सब्जेक्ट्स को समय दे सकें।

10. Time Table Realistic और Flexible हो

अपने Time Table में बड़े बड़े task को लिख देना तो बहुत ही आसान काम है। लेकिन उन्हें पूरा करना यदि संभव नहीं है तो उनका कोई फायदा आपको नहीं मिलने वाला है। बल्कि हो सकता है कि आप निराश हो जायें इससे बचने के लिए Time Table में ऐसे Realistic Task को लिखें। जिन्हें आप पूरा कर सकतें हैं इसके साथ ही आपके टाइम टेबल में फ्लेक्सिबिलिटी भी होनी चाहिए। ताकि अचानक कोई बदलाव करना पड़े तो आपको कोई समस्या न हो और परेशान तो आप बिल्कुल भी न हों।

दोस्तों Time Table ऑनलाइन भी बनाये जा सकतें हैं। लेकिन उसका उपयोग आप तभी करे जब हर रोज अपने फोन में टाइम टेबल देखना आपको Distraction की तरफ ना ले जाये। हमेशा याद रखें कि आपको टाइम टेबल डेडीकेशन के लिए बना रहें हैं। और और पढ़ाई के लिए यह बहुत जरूरी है।

Conclusion

यह सभी रहें प्रॉपर Time Table बानाने के लिए वह सभी इफेक्टिव टिप्स। जो आपको पढ़ाई में बहुत ज्यादा ही हेल्पफुल रहेंगे। इसीलिए इन्हें जरूर आजमायें और आपको यह लेख कैसा हमें कमेंट्स बॉक्स में लिखकर बतायें। साथ ही इस लेख को दूसरों के साथ share करना न भूलें। धन्यवाद!

Leave a Comment