CrPC क्या है | CrPC Full Form in Hindi

CrPC in Hindi: क्या आप CrPC के बारे में जानते हैं, किन प्रक्रियाओं के तहत अपराधी को गिरफ्तार किया जाता है, अपराध की सजा क्या होती है, अपराधी को कब तक जेल में रखा जाता है, कब जज के सामने पेश किया जाता है, इत्यादि। आइए इस लेख के माध्यम से आपको सीआरपीसी क्या है और CrPC Full Form in Hindi आदि के बारे में पूरी जानकारी के बारे में बताते हैं।

CrPC Full Form in Hindi

यदि हम बात करें कि CrPC का Full Form क्या होता है, तो इसको यानि CrPC को क्रिमिनल प्रोसीजर कोड CRIMINAL PROCEDURE CODE कहते हैं। इसे हिंदी में “दंड प्रक्रिया संहिता” कहा जाता हैं।

सीआरपीसी क्या है – CrPC in Hindi

CrPC को Code of Criminal Procedure कहा जाता है और इसे हिंदी में “दंड प्रक्रिया संहिता” कहा जाता हैं। यह कानून 1973 में पारित किया गया था और 1 अप्रैल 1974 से लागू हुआ। किसी भी तरह के अपराध के बाद पुलिस अपराधी की जांच के लिए दो तरह की प्रक्रिया अपनाती है। एक प्रक्रिया पीड़िता के संबंध में और दूसरी आरोपी के संबंध में है। CrPC में इन्हीं प्रक्रियाओं का वर्णन किया गया है। आपराधिक प्रक्रिया संहिता को एक तंत्र के रूप में भी वर्णित किया जा सकता है जो मुख्य आपराधिक कानून (IPC) के लिए एक तंत्र प्रदान करता है।

यह भी जानें: SWOT Analysis क्या है | SWOT Full Form In Hindi

सीआरपीसी प्रक्रियाओं का विवरण इस प्रकार है

  • अपराध की जांच (Investigation of crime)
  • संदिग्धों के प्रति बरताव (Treatment of the suspects)
  • साक्ष्य संग्रह प्रक्रिया (Evidence collection process)
  • यह निर्धारित करना कि अपराधी दोषी है या नहीं

FAQ About CrPC in Hindi

CrPC में कुल कितनी धारा है?

इसमे कुल में 37 अध्याय तथा कुल 484 धाराएं हैं।

सीआरपीसी 151 क्या है?

एक पुलिस अधिकारी जो संज्ञेय अपराध करने की परिकल्पना को जानता है, ऐसे व्यक्ति को मजिस्ट्रेट के आदेश के बिना और बिना वारंट के उस मामले में गिरफ्तार कर सकता है जिसमें ऐसा अधिकारी अपराध करता प्रतीत होता है अन्यथा रोका नहीं जा सकता है।

सीआरपीसी में गिरफ्तारी क्या है?

एक व्यक्ति जिसे गिरफ्तार किया गया है या हिरासत में लिया गया है और एक पुलिस स्टेशन या पूछताछ केंद्र या अन्य हिरासत में रखा जा रहा है, एक दोस्त या रिश्तेदार या एक व्यक्ति जो उन्हें जानना चाहता है या उनकी देखभाल करना चाहता है, को जल्द से जल्द सूचित करना। किए जाने का अधिकार, कि उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

Conclusion

आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें कमेंट्स बॉक्स में लिखकर जरूर बतायें। यदि फिर भी आपका कोई सवाल या कोई संदेह है, तो वह भी बतायें हम उसे हल करने की पूरी कोशिश करेंगे और वह जानकारी आप तक पहुंचायेंगे। इसी के साथ इस लेख को ज्यादा से ज्यादा उन लोगों के साथ share कीजिये। जो लोग CrPC in Hindi | CrPC क्या है | CrPC Full Form in Hindi के बारे में नहीं जानतें हैं। धन्यवाद!

Leave a Comment

x